Home छत्तीसगढ़ मेयर देवेंद्र की पहल से, हर घर में लग रहा नल कनेक्शन, किस्त में जमा कर सकेंगे राशि

-प्रदेश के इतिहास में पहली बार मात्र 100 रुपए में लग रहा नल कनेक्शन

भिलाई। नगर निगम भिलाई क्षेत्र में रहने वाले हर जरूरतमंद व्यक्ति के घर में नल लग रहा है। गरीब व असहाय लोग भी अपने घरों में नल लगवा रहे है। इनके भी वर्षो पुराने सपने पूरे हुए और जो वर्षो से पानी की बूंद-बूंद के लिए तरस रहे थे, आज उनके घरों में नल कनेक्शन लगा है और घर बैठे आराम से भरपूर पानी पा रहे है। गरीब व सामान्य लोगो का यह सपना साकार हो पाया है। मेयर व विधायक देवेंद्र यादव के सराहनीय पहल से। मेयर यादव ने जनता के हित के लिए बड़ी पहल की है। मेयर देवेंद्र यादव ने ऐसे लोग जो अपने घरों में नल नहीं लगा पा रहे हैं। ऐसे लोगों के घरों में भी नल लगे, भरपूर पानी मिले इसके लिए नई योजना शुरू की और मात्र 100 रुपये में नल कनेक्शन देने का काम शुरू किए। जो राशि निगम में जमा की जाती है। उस राशि को किस्त में जमा करने की सुविधा दी है। ऐसा प्रदेश व निगम के इतिहास में पहली बार हुआ है। नगर निगम भिलाई में कई ऐसे गरीब परिवार है, जिनके यहां नल नहीं था। लोगों को सार्वजनिक नल व हैंड पंप से पानी भरना पड़ता था। ये लोग इनते गरीब व असहाय है कि अपने घर में नल भी नहीं लगवा पा रहे थे। क्योंकि नल लगाने के लिए पहले निगम में करीब 6 हजार रुपए जमा करना पड़ता है। ऐसे शहर में कई लोग है। इनके पास बीपीएल कार्ड भी नहीं है। ऐसे में 6 हजार रुपए एक साथ जमा करने की स्थिति नहीं होने की वजह से लोग नल नहीं लगावा पाते थे। लेकिन अब हर घर मे नल लग रहा है और 6 हजार रुपए एक साथ देने की जरूरत नहीं है। अब जिन्हें अपने घर में नल लगाना है, वे लोग निगम के जोन आफिस में जाकर अपनी सुविधा अनुसार किस्त में राशि जमा करके नल लगावा सकते हैं।
जनता की मांग पर पहल- मेयर देवेंद्र
खम्हरिया के भूमिपूजन कार्यक्रम में जहां मेयर व भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव से लोगों ने मांग की थी कि वे नल लगाने के लिए 6 हजार रुपए नहीं दे सकते हैं। लोगों की समस्या सुनने के बाद मेयर देवेंद्र यादव ने पहल की और अधिकारियों को निर्देश दिया कि हर व्यक्ति अपने घर में नल लगवा सके। इसके लिए उन्हें किस्त की सुविधा दी जाए। मेयर देवेंद्र के निर्देश पर अधिकारियों ने किस्त में राशि लेने और इसकी जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रचार करना भी शुरू किया।जिसके परिणाम स्वरूप शहर के कई हजार मकानों में जहाँ नल कनेक्शन नहीं था वहा भी नल लग गया।
50580 घरों में नए नल कनेक्शन की डिमांड
सर्वे रिपोर्ट के अनुसार शहर के 50580 घरों में नए नल कनेक्शन की डिमांड है। इतने घरों में नल कनेक्शन के साथ ही वाटर मीटर लगाया जा रहा है। वर्तमान में कुछ वार्डो में काम अंतिम चरण पर है। निगमायुक्त ऋतुराज रघुवंशी ने कार्य की लगातार मॉनिटरिंग की, अधिकारियों को निर्देशित किया जिसके परिणाम स्वरूप अब तक कई हजार घरों में कनेक्शन दे चुके है और कुछ घरों में कनेक्शन का काम जारी है।
जनता के लिए सुविधाएं देना प्राथमिक क्रम पर- महापौर देवेंद्र यादव
अधिकांश लोग अपने घरों में नल नहीं लगवा पा रहे थे। इसलिए लोगों की सुविधाओं को देखते हुए किस्त में राशि जमा करने की सुविधा दी गई है। ताकि हर घर में नल लग सके और लोगों को घर में पानी मिल सके। हम जनता के हित और विकास के लिए लगातार प्रयासरत हैं।
देवेेंद्र यादव, मेयर व विधायक भिलाई नगर
जनता की बात जनता की जुबानी
: – वर्षो का सपना हुआ पूरा-माही गेंडरे
सुपेला निवासी माही ने कहा कि उनके वार्ड में पानी की बड़ी समस्या थी। सार्वजनिक नल में सुबह से भीड़ लगती थी। लेकिन हमारे महापौर देवेंद्र यादव के सहयोग से मात्र 100 रूपये दिए और नल लगा गया।
: -महापौर के प्रयास से हुआ सपना पूरा-देवी
सुपेला निवासी देवी उइके ने बताया कि पहले घर मे नल लगवाना बड़ा सपना था। सोचते थे कि काश हमारे घर मे भी नल होता लेकिन यह सपना हमारा कभी पूरा नहीं हो पाता अगर महापौर प्रयास नहीं करते। उनका बहुत बहुत सहयोग मिला।
: मात्र 100 रुपये में लग गया नल- मांझी
अनसूइया मांझी ने बताया कि वे सामान्य परिवार से है। नल लगवाने के लिए 6000 रुपए लगता था। जो हमारे जैसे सामान्य परिवार के लिए एक साथ देना बड़ा मुश्किल था पर हमारे युवा महापौर ने अपने युवा सोंच से हजारों की समस्या का समाधान कर दिया।
:- सब का दिल जीत लिया -सुरेश
सुरेश साहू ने कहा कि पानी सबसे बड़ी समस्या थी, रोज झगड़ा होता था, लेकिन महापौर देवेंद्र यादव ने सब के घर मे मात्र 100 रुपये में नल लगवाकर समस्या का समाधन कर दिया। अब हर परिवार खुश है, सबके घर मे नल है। महापौर ने अपने काम से सब वार्डवासियों और पूरे भिलाइवासियो का दिल जीत लिया है।

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More