Home देश महाराष्ट्र में भी बर्ड फ्लू की दस्तक, परभणी के पोल्ट्री फॉर्म में 800 मुर्गियों की मौत, DM ने दिए ये आदेश

महाराष्ट्र में भी बर्ड फ्लू की दस्तक, परभणी के पोल्ट्री फॉर्म में 800 मुर्गियों की मौत, DM ने दिए ये आदेश

by admin

मुंबई , महाराष्ट्र के परभणी जिले के मुरूंबा गांव स्थित पोल्ट्री फार्म में करीब 800 मुर्गियों की मौत हो गई, जिसके बाद इनके नमूनों को जांच के लिए भेजा गया. जांच रिपोर्ट में ये बात सामने आई कि इन मुर्गियों की मौत ‘बर्ड फ्लू’ (Bird Flu) की वजह से हुई है. इस खबर के सामने आते ही प्रशासन अलर्ट हो गया है.

परभणी के जिलाधिकारी दीपक मुगलिकर ने मुरूंबा गांव के एक किलोमीटर के दायरे में आने वाली मुर्गियों को मारने के आदेश दिए हैं. साथ ही कहा कि इस गांव के 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाले क्षेत्र से मुर्गियां किसी दूसरे जिले में नहीं भेजी जाएंगी.

बता दें कि जिस पोल्ट्री फार्म में मुर्गियों की मौत हुई है उसे एक स्वयं सहायता समूह चलाता है. बताया जा रहा है कि इस पोल्ट्री फार्म में करीब आठ हजार मुर्गियां हैं, जिनमें करीब 800 मुर्गियों की मौत दो दिनों में हुई है.

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के बीच देश के कई राज्यों में ‘बर्ड फ्लू’ का संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है. अबतक केरल, राजस्थान, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, यूपी और गुजरात में बर्ड फ्लू के मामलों की पुष्टि हुई है. वहीं, दिल्ली, छत्तीसगढ़ समेत कई अन्य राज्यों में पक्षियों के सैंपल जांच के लिए लैब में भेजे गए हैं.
हालांकि, महाराष्ट्र में अबतक बर्ड फ्लू का एक भी मामला सामने नहीं आया था. लेकिन परभणी जिले के मुरूंबा गांव स्थित पॉलिट्री फार्म में करीब 800 मुर्गियों की मौत ने प्रशासन को अलर्ट कर दिया है, क्योंकि इन सभी मुर्गियों की मौत ‘बर्ड फ्लू’ की वजह से हुई है.
बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों से पहाड़ों पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पशुपालन विभाग ने पोल्ट्री फार्म को सावधानी बरतने को कहा है. उधर, बीते दिन ही यूपी के कानपुर चिड़ियाघर को बर्ड फ्लू वायरस मिलने के बाद सील कर दिया गया था. चार पक्षियों की मौत की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है.

चिड़ियाघर के आस-पास के इलाके को रेड जोन घोषित किया गया है. वहीं, दिल्ली में बर्ड फ्लू की पुष्टि तो नहीं हुई लेकिन राजधानी के अलग-अलग इलाकों में लगातार मरते हुए पक्षी चिंता बढ़ा रहे हैं.

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More