Home छत्तीसगढ़ आज से शुरू होगा फ्रंट लाइन के कोरोना वारियर्स का वैक्सिनशन

आज से शुरू होगा फ्रंट लाइन के कोरोना वारियर्स का वैक्सिनशन

by admin

-मीडिया वर्कशॉप में वैक्सिनशन कार्यक्रम के बारे में हुई विस्तार से चर्चा
-शुरुआत में शनिवार और रविवार को 5 चयनित केंद्रों में लगेगी वैक्सीन
-18 से 30 जनवरी तक 13 केंद्रों में लगाई जाएगी वैक्सीन
दुर्ग / जिले में कल 16 जनवरी से कोरोना वारियर्स को वैक्सीन लगाई जानी है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से सारी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। इस संबंध में विस्तार पूर्वक चर्चा करने लिए आज कलेक्ट्रेट सभागृह में मीडिया वर्कशॉप का आयोजन किया गया। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने कहा कि कोरोना के प्रति जन जागृति फैलाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है। आगे भी मीडिया के सहयोग की आवश्यकता होगी। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में अग्रिम पंक्ति के कोरोना वारियर्स यानि कि हेल्थवर्कर्स को,इसके बाद 50 से अधिक आयु के हाई रिस्क ग्रुप्स को और इसके बाद अन्य जरूरतमंदों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके लिए पहले से स्वास्थ्य विभाग के एप्लिकेशन अथवा पोर्टल में पंजीकरण करवाना अनिवार्य होगा। शनिवार यानि 16 जनवरी से चयनित केंद्रों में 100 कोरोना वारियर्स को वैक्सीन लगाया जाएगा जिसकी पूर्ण रूप से तैयारी की जा चुकी है। कोरोना नियंत्रण एवं रोकथाम की नोडल अधिकारी सुश्री दिव्या वैष्णव ने बताया कि 16 जनवरी को कोरोनावायरस वैक्सीन लगाने हेतु 5 केंद्र चयनित किए गए हैं जो जिला चिकित्सालय दुर्ग, श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज जुनवानी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र-पाटन, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नगपुरा, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बैकुंठधाम है। प्रत्येक केंद्र में 05-05 वैक्सिनशन ऑफिसर या वी ओ रहेंगे। वीओ 1 के रूप में पुलिस विभाग के अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जो पहचान के दस्तावेजों की जांच कर सत्यापित करेंगे कि वैक्सिनशन के लिए आया व्यक्ति वहीं है जिसने पंजीकरण करवाया है। वीओ 2 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए उपयोग किए गए एप्लिकेशन में एंट्री एवं अपडेशन का काम करेंगे। वीओ 3 वैक्सीन लगाने का काम करेंगे जिसमें वी ओ उनका सहयोग करेंगे। इसके बाद सबसे महत्वपूर्ण चरण होगा ऑब्सर्वेशन या निगरानी का जो काम होगा। वीओ 5 जो इस बात की देख रेख करेंगे कि वैक्सीन लगाने के बाद व्यक्ति को कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हुआ वैक्सीन के बाद 30 मिनट तक व्यक्ति को निगरानी में रखा जाएगा, किसी भी प्रकार की परेशानी एलर्जी इत्यादि होने पर आपातकालीन चिकित्सा की भी व्यवस्था की गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि 18 जनवरी से 30 जनवरी 2021 तक कोरोनावायरस का वैक्सीन लगाने हेतु तो 13 केंद्र चयनित किए गए हैं, इन केंद्रों में मंगलवार, शुक्रवार एवं शासकीय अवकाश को छोड़कर शेष दिवसों में वैक्सीनेशन किया जाएगा, जो निम्नानुसार है जिला चिकित्सालय दुर्ग, पंडित जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर-09, श्री शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज, जुनवानी चंदूलाल चंद्राकर मेमोरियल मेडिकल कॉलेज, सिविल अस्पताल सुपेला, सामुदायिक केंद्र पाटन, सामुदायिक केंद्र झीट, सामुदायिक केंद्र धमधा, सामुदायिक केंद्र अहिवारा, सामुदायिक केंद्र कुम्हारी, सामुदायिक केंद्र बोरी, सामुदायिक केंद्र निकुम और सामुदायिक केंद्र उतई। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की विपरीत प्रतिक्रिया होने पर प्रत्येक वैक्सीनशन केंद्र एईएफआई उपचार केंद्र स्थापित किया गया है। सभी केंद्रों में चिकित्सकों की ड्यूटी लगाई गई है। वर्कशॉप में बताया गया कि दुर्ग जिले में कुल 10260 डोज वैक्सीन उपलब्ध है।
विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से की गई चर्चा-वर्कशॉप में वैक्सिनशन से जुड़ी भ्रांतियों का समाधान भी किया गया। टीकाकरण अधिकारी चन्द्राकर ने मीडिया वर्कशॉप में पत्रकार साथियों के विभिन्न सवालों का जवाब भी दिया।

Related Posts

Leave a Comment