Home छत्तीसगढ़ ’’ हेलमेट जागरूकता रैली’’ का झंडा दिखाकर किया गया शुभारंभ

’’ हेलमेट जागरूकता रैली’’ का झंडा दिखाकर किया गया शुभारंभ

by admin

– लोगों को हेलमेट पहनने के लिए जागरूक करने के लिए न्यायाधीशगण ने रैली में लिया भाग

दुर्ग/  राजेश श्रीवास्तव जिला एवं सत्र. न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग के मार्गदर्शन एवं निर्देशन पर दुपहिया वाहन की दुर्घटनाओं तथा युवा वर्ग में दुपहिया वाहन को तेज गति से चलाये जाने की परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए दुर्घटनाओं एवं वाहन चालन संबंधी नियमों के प्रति दुर्ग के जनमानस में जागरूकता लाये जाने के संबंध में’’ हेलमेट जागरूकता रैली’’ आयोजित की गई। हेलमेट जागरूकता रैली का शुभारंभ राजेश श्रीवास्तव के द्वारा तथा जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष गुलाब सिंह पटेल के द्वारा न्याय सदन गौरव पथ दुर्ग से झंडा दिखाकर शुभारंभ किया गया। हेलमेट जागरूकता रैली सर्वप्रथम न्याय सदन गौरव पथ नगर निगम से प्रारंभ होकर इंदिरा मार्केट रोड से होते हुए रेल्वेस्टेशन तथा विश्राम गृह होते हुए वापस न्याय सदन गौरव पथ पर समाप्त हुआ। रैली के शुभारंभ कार्यक्रम में राजेश श्रीवास्तव ने उपस्थित लोगों को कहा कि नक्सली हमले में जितने लोगों की मृत्यु नही होते उससे कही अधिक मृत्यु वाहन दुर्घटना से होती है। वाहन चालक हेलमेट नही पहनते वो केवल जुर्माना से बचने के लिए हेलमेट पहनना जरूरी समझते है जो बिल्कुल सही नही है। हेलमेट खुद के सिर की सुरक्षा के लिए आवश्यक है। वाहन दुर्घटना में हेलमेट पहनने वाले वाहन चालक को कम शाररिक क्षति होती है। आज का दिन उन लोगों को जागरूक करेगा जो यह समझते है कि हेलमेट पहनने से जान नही बचती। न्यायाधीशगण एवं अधिवक्तागण एवं न्यायिक कर्मचारी ने हेलमेट जागरूकता रैली में स्वतः अधिक से अधिक संख्या में शामिल होकर लोगों को जागरूक करने के लिए अपने कदम आगे बढाये है ये उनकी सहभागिता को दर्शाता है।
रैली के माध्यम से लोगों में हेलमेट पहनने के प्रति जागरूक करना तथा हेलमेट पहनने पर दुर्घटना में सिर पर लगने वाली चोट से बचने की जानकारी दी गई। यह देखने में आया है कि युवा वर्ग अत्यधिक तेजगति से बिना हेलमेट के अनियंत्रित होकर दुपहिया वाहन को स्पोर्टस बाइकर की तरह चलाकर स्टंट करते है । ऐसे चालक दुर्घटना को स्वयं बुलाते है और अपने जान को जोखिम में डालते है । वाहन चालक अपने जान को जोखिम में डालने के साथ-साथ अन्य लोगो के जान को जोखिम में डाल देते है। किसी के साथ भी घटित वाहन दुर्घटना परिवार एवं पीड़ित को मानसिक क्षति, शाररिक क्षति तथा आर्थिक क्षति देती है। जागरूकता रैली के माध्मय से अधिक से अधिक लोगों तक इस तथ्य को सामने लाया गया कि वाहन दुर्घटना में हेलमेट उन्हें सुरक्षा देता है। हेलमेट पहनने से वे सुरक्षित अपने परिवार के पास पहॅूच सकते है। इस जागरूकता रैली में लगभग 600 लोग सम्मिलित हुए तथा जागरूकता रैली जब इंदिरा मार्केट रोड पर से गुजरी तो कई लोगों ने अति उत्साह से इस रैली को देखा, जब रैली स्टेशन रोड पर पहॅूची तो कुछ लोगों ने हाथ दिखाकर इस रैली को अभिवादन किया। इस रैली के माध्यम से कई हजारों लोग हेलमेट पहनने के लिए जागरूक होकर लाभान्वित हुए। रैली के दौरान जनमानस का भी विशेष सहयोग प्राप्त हुआ।
हेलमेट जागरूकता रैली में जिला न्यायालय दुर्ग के समस्त पुरूष न्यायाधीशगण, जिला अधिवक्ता संघ के समस्त पदाधिकारीगण तथा कई अधिवक्तागण ,जिलान्यायालय के तृतीय श्रेणी न्यायिक कर्मचारी संघ के पदाधिकारीगण , पैरालीगल वाॅलिटियर के साथ-साथ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/स्थायी लोक अदालत जनोपयोगी सेवा के कर्मचारीगण शामिल हुए । जागरूकता रैली विशेष रूप से यातायात विभाग से अत्यधिक संख्या में ट्रेफिक पुलिस शामिल हुए। जनसामान्य ने भी जागरूकता रैली में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। मिडिया के पत्रकार बंधुओं का भी विशेष सहयोग प्राप्त हुआ।

Related Posts

Leave a Comment