Home छत्तीसगढ़ कोरोना वारियर्स का हुआ सम्मान, कोविड काल में असाधारण कार्यों के लिए प्रशासन ने किया सम्मानित

कोरोना वारियर्स का हुआ सम्मान, कोविड काल में असाधारण कार्यों के लिए प्रशासन ने किया सम्मानित

by admin

-समाजसेवी संस्थाओं और कोविड कार्य से जुड़े अधिकारियों कर्मचारियों का हुआ सम्मान

दुर्ग/ कोविड काल में प्रशासनिक अमले एवं समाजसेवी संगठनों ने पूरे समर्पण के साथ विपदा की इस घड़ी में जनमानस की पूरे समर्पण के साथ सेवा की। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में जिला प्रशासन द्वारा इन्हें सेवा के इस असाधारण कार्य के लिए सम्मानित किया गया। इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में विधायक अरुण वोरा ने कहा कि कोरोना वारियर्स ने खतरे से जूझने के बावजूद पूरे समर्पण के साथ अपनी सेवाएं प्रदान कीं। उन्होंने ऐसे समय में कार्य किया जब कोविड को लेकर समाज में बहुत ज्यादा भय था। प्रशासनिक गाइडलाइन के अनुरूप अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए कोरोना वारियर्स आगे बढ़े। लोगों को सहयोग करने का बड़ा काम संभव हुआ। विधायक ने कहा कि कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे के नेतृत्व में जिला प्रशासन ने कोरोना काल में बेहतर व्यवस्था के लिए पूरे समर्पण से कार्य किया। महापौर धीरज बाकलीवाल ने कहा कि प्रशासनिक सजगता और चुस्ती एवं सामाजिक संगठनों के महती सहयोग से कोरोना के संकट से निपटने में सहयोग मिला और प्रभावी रूप से इसके रोकथाम की कार्रवाई की गई। इस मौके पर आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा कि कोरोना काल में बाहर से रोज आने वाले हजारों लोगों को उनके गंतव्य स्थल तक छोड़ना, उनके खाने पीने की व्यवस्था करना बड़ी चुनौती थी। सामाजिक संगठनों के सहयोग से प्रशासन ने यह महती दायित्व निभाया और लोगों को बहुत संतोष पहुंचाया। आईजी ने कहा कि स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस जवान, सफाई कर्मी तथा इस कार्य में लगे अन्य प्रशासनिक अमले ने रात दिन कार्य कर कोरोना की चुनौती से निपटने में बड़ी भूमिका निभाई। इस मौके पर कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने कहा कि कोरोना वारियर्स ने कोरोना के संकट से निपटने में बड़ी भूमिका निभाई। सेवाभावी संगठन पूरे समय प्रशासन की सहायता के लिए खड़े रहे। छत्तीसगढ़ की ओर आते हजारों के जनसमूह को सुरक्षित उनके घर तक छोड़ना और इस बीच उनके भोजन की व्यवस्था करना बड़ी चुनौती था जो इस कार्य में लगे कोरोना वारियर्स की वजह से संभव हो सका। स्वास्थ्य अमला पूरे समय तक अलर्ट मोड पर बना रहा। कोरोना वारियर्स की मदद से रात-दिन मेहनत कर कोविड केयर सेंटर तैयार किये गए। इसके बाद इन सेंटर के संचालन के लिए कोरोना वारियर ने रात-दिन मेहनत की। इस मौके पर एसपी प्रशांत ठाकुर ने भी अपना संबोधन दिया। उन्होंने कहा कि कोविड काल में प्रशासनिक कार्य में लगे कोविड वारियर ने कठिन परिस्थितियों में भी लोगों तक सहायता पहुँचाने का कार्य जारी रखा। इसके साथ ही सेवाभावी संगठनों के लोगों की सहायता भी अहम रही। इन सबकी मदद से कोरोना संकट से प्रभावी रूप से निपटने में सहायता मिली।

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More