Home छत्तीसगढ़ ’पढ़ई तुंहर दुआर’ को ई-गवर्नेन्स अवार्ड : मुख्यमंत्री और स्कूल शिक्षा मंत्री ने दी बधाई

’पढ़ई तुंहर दुआर’ को ई-गवर्नेन्स अवार्ड : मुख्यमंत्री और स्कूल शिक्षा मंत्री ने दी बधाई

by admin

रायपुर :   छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा संचालित कार्यक्रम पढ़ई तुंहर दुआर कार्यक्रम के तकनीकी टीम को 18वां CSI e-Governance Award 2020 में अवार्ड ऑफ रेकग्निशन देने की घोषणा की गई है। छत्तीसगढ़ टीम को यह सम्मान 12 फरवरी को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण काल में छत्तीसगढ़ सरकार ने यह संकल्प लिया कि बच्चों की पढ़ाई नहीं रुकेगी, इसके फलस्वरूप विपरीत परिस्थितियों के बावजूद राज्य में पढ़ई तुंहर दुआर की पूरी टीम ने वेब पोर्टल बनाया और कार्य प्रारंभ किया। इसमें दिन-प्रतिदिन नए नए आयाम जुड़ते गए, कारवां बनता गया और सफलता मिलती गई।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेम सिंह टेकाम ने राज्य की टीम को बधाई देते हुए कहा की हमारे राज्य की तकनीकी टीम ने सिद्ध कर दिखाया हैं और छत्तीसगढ़, शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए इसी तरह सतत प्रयास करता रहेगा।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 7 अप्रैल 2020 को पढ़ई तुंहर दुआर कार्यक्रम को शुभारंभ किया था। छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला एवं राज्य तकनीकी टीम द्वारा लॉकडाउन के समय एक सप्ताह के भीतर घर से ही पोर्टल निर्मित कर छत्तीसगढ़ के शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए समर्पित किया था, जिससे पढ़ने लिखने में काफी मदद मिली। इसके बाद लगातार, एनआईसी के सहयोग से cgschool.in पोर्टल में नए-नए फीचर्ज को जोड़ा गया ताकि घर से पढ़ाई सुगम एवं सरल तरीके से बच्चों तक पहुंचायी जा सके।

उल्लेखनीय है कि देश में पीएम एण्ड ई-विद्या लॉंच होने से पहले दिक्षा के तकनीकी टीम-एकस्टेप ने भी छत्तीसगढ़ का ब्यौरा तैयार किया था। जिसमें शिक्षा विभाग द्वारा संचालित किए जा रहे ई-कांटेंट निर्माण और एनआईसी द्वारा विद्यार्थियों के लिए किए जा रहे अभिनव डिजिटल प्रयासों की भी सराहना की थी।

वर्ष 2009 में प्रधानमंत्री द्वारा अवार्ड्स फॉर एक्सीलेंस इन पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन से पुरस्कृत एनआईसी के वरिष्ठ संचालक ए.के. सोमशेखर के अगुवाई पढ़ई तुंहर दुआर पोर्टल बनाया गया। इस पोर्टल में सभी कक्षाओं के ई-बुक्स, कक्षावार-विषयवार ई-सामग्री की उपलब्धता, ऑनलाइन कक्षाओं की सुविधा, गृहकार्य भरके भेजने की सुविधा, शिक्षकों से ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी करने की सुविधा, समशय दूर करने की सुविधा, अभ्यास करने हेतु क्विज, प्रश्न, आकलन करने के सुविधा, ई-न्यूजलेटर इत्यादि उपलब्ध है।

छत्तीसगढ़ की पढ़ई तुंहर दुआर की टीम में प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला, संचालक लोक शिक्षण जितेंद्र शुक्ला, संचालक एससीईआरटी डी. राहुल वेंकट, एनआईसी के वरिष्ठ संचालक ए.के. सोमशेखर, अतिरिक्त संचालक एससीईआरटी डॉ. योगेश शिवहरे, सहायक संचालक समग्र शिक्षा डॉ. एम सुधीश, सहायक संचालक राज्य शिक्षा मिशन प्रशांत पांडेय, वरिष्ठ तकनीकी सलाहकार सत्यराज अय्यर, वैज्ञानिक एनआईसी श्रीमती ललिता वर्मा, प्रोग्रामर एनआईसी अजय वर्मा शामिल है।

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More