Home छत्तीसगढ़ कब्रिस्तान में काम अधूरा, चोटिल हो रहे शोकाकुल परिजन

कब्रिस्तान में काम अधूरा, चोटिल हो रहे शोकाकुल परिजन

by admin

भिलाई।  कब्रिस्तान हैदरगंज कैम्प-1 में इन दिनों ठेकेदार द्वारा आधा-अधूरा काम छोड़ दिए जाने के कारण ईंट, रेती-गिट्टी और टाइल्स यहां वहां बिखरे हैं। यहां हर रोज मैय्यत लेकर आने वाले शोकाकुल परिजन इसके चलते चोटिल हो रहे हैं। आगामी दिनों में शब-ए-बराअत का त्यौहार है और इसके पहले कब्रिस्तान में अव्यवस्था का आलम है। इस अधूरे काम के कारण मुस्लिम समाज में बेहद आक्रोश है।
कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी ने इस संदर्भ में नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी से मुलाकात की और उन्हें समस्या से रूबरू कराया तथा तत्काल काम शुरू करवाने की मांग की।
उल्लेखनीय है कि जोन क्रमांक-2 के अंतर्गत वार्ड-19 स्थित कब्रिस्तान में बाऊंड्री वाल, वुजू खाना और कब्र खोदने वाले गोरकुन का आवास निर्माण करने के अलावा कब्रों तक पहुंच मार्ग में पेवर ब्लॉक लगाने और कब्रिस्तान के भीतर उचित प्रकाश व्यवस्था करने छत्तीसगढ़ शासन ने राशि 92.62 लाख रूपए की स्वीकृति दी थी।
जिसमें 18 नवंबर 2019 को प्रथम किस्त की राशि 39.10 लाख जारी होने पर कमेटी ने जरूरी औपचारिकताओं के बाद 26 जनवरी 2020 को संगे बुनियाद (आधारशिला) रखवाई और इसके साथ ही निर्माण एजेंसी द्वारा कार्य प्रारंभ किया गया। इसमें पेवर ब्लॉक कार्य व आवास निर्माण शुरू भी कर दिया गया। परंतु सड़कों पर पेवर ब्लाक व आवास का निर्माण कार्य अधूरा छोड़ कर विगत 2 माह से कार्य बंद है।
कमेटी के ओहदेदारों ने आयुक्त को बताया कि निगम के ठेकेदार ने मनमाफिक काम कर लापरवाही दिखाते हुए मटेरियल वैसे ही छोड़ कर चले गया है और जोन क्रमांक-2 इंजीनियरों ने यहां आकर कभी मौका-मुआयना भी नहीं किया है। पेवर ब्लाक बिछाने के बाद किनारे को सीमेंट-रेत के मसाले से अच्छी तरह लॉक किया जाना था, जिससे कि पेवर न उखड़े। ठेकेदार ने महज कुछ जगह पर इसे लॉक किया है लेकिन ज्यादातर जगह ऐसे ही छोड़ दिया है। जिससे पेवर ब्लॉक उखड़ रहे हैं।
कमेटी के ओहदेदारों ने बताया कि यहां रोजाना मैय्यत होने की हालत में सैकड़ों लोगों का आना-जाना लगा रहता है। जगह-जगह बिल्डिंग मटेरियल गिरा होने और निर्माण कार्य अधूरा होने से लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शोकाकुल परिजन कई बार इन आधे-अधूरे निर्माण की वजह से हादसों का शिकार होकर चोटिल हो चुके हैं।
कमेटी ने आयुक्त से मांग की है कि मुस्लिम कब्रिस्तान में अपने दिवंगत परिजनों की याद में मनाए जाने वाले त्यौहार शब-ए-बराअत के पहले विकास कार्य फिर से शुरू किया जाए। हर साल शब-ए-बराअत पर दुर्ग-भिलाई से 50 हजार से ज्यादा लोग इस कब्रिस्तान में अपने दिवंगत परिजनों की कब्र पर दुआएं करने पहुंचते हैं। इस साल यह त्यौहार 19 मार्च को है। आयुक्त से चर्चा करने व ज्ञापन सौंपने गए प्रतिनिधिमंडल में कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी के प्रतिनिधि मंडल में सदर शमशीर कुरैशी, अब्दुल वहीद, मोहम्मद रशीद खान, मुन्ना खान, शम्मी अशरफी, सलीम, मोहम्मद जफर, नासिर, सादिक कादरी, शादाब, सईद, शरफुद्दीन, कदीर रजा, अब्दुल हाफिज और वसीम रवानी सहित अन्य शामिल थे। कमेटी ने तय किया है कि इस लापरवाहीपूर्ण कार्य की शिकायत जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव कुमार डहरिया और राज्य शहरी अभिकरण (सूडा) से भी की जाएगी।

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More