Home व्यापार पेपरलेस, मोबाइल ऐप, सेंसेक्स में उछाल…, जानें मोदी सरकार के इस बजट में क्या-क्या पहली बार हुआ

पेपरलेस, मोबाइल ऐप, सेंसेक्स में उछाल…, जानें मोदी सरकार के इस बजट में क्या-क्या पहली बार हुआ

by admin

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए लोकसभा में बजट पेश किया। कोरोना संक्रमण के बीच पेश किए गए इस बजट को लेकर मिश्रित प्रतिक्रिया आ रही है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि यह छह स्तंभों पर आधारित है जिनमें स्वास्थ्य एवं देखभाल, वित्त पूंजी एवं बुनियादी ढ़ांचा, आकांक्षी भारत में समग्र विकास, मानव संसाधन का विकास, नवाचार एवं अनुसंधान और न्यूनतम सरकार अधिकतम शासन शामिल है। निर्मला सीतारण का यह बजट कई मायनों में खास रहा है। वित्त मंत्री जब बजट पेश करने के लिए वित्त मंत्रालय से संसद के लिए निकलीं तो उनके हाथ में बही खाता या ब्रीफकेस की जगह टैब था। उन्होंने देश का पहला डिजिटल बजट पेश किया। इसके अलावा इस बजट में और भी कई ऐसी बातें पहली बार हुईं।

पेपरलेस बजट : भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब बजट की छपाई कागजों पर नहीं हुई है। इसे इलेक्ट्रॉनिक प्रारूप में जारी किया गया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसे मेड इन इंडिया टैबलेट से पढ़ा। इससे पहले बजट की कॉपियां छपती थीं और इसे सांसदों और मीडिया कर्मियों को दिया जाता था।

बजट के लिए मोबाइल एप : पहली बार बजट के लिए यूनियन बजट नाम का मोबाइल ऐप लॉन्च किया गया। वित्त मंत्रालय ने इस एप को लॉन्च किया था। इस ऐप पर वित्त मंत्री के भाषण के बाद बजट से जुड़े 14 डॉक्यूमेंट सांसदों और आम लोगों के लिए मौजूद रहेंगे।

सामाजिक सुरक्षा के दायरे में ठेका कर्मचारी : पहली बार सामाजिक सुरक्षा संहिता 2020 में गिग और प्लेटफॉर्म कर्मचारियों को शामिल किया गया। गिग और प्लेटफॉर्म कर्मचारी वे हैं जो विभिन्न ई कामर्स सेवाओं मसलन उबर, ओला, स्विगी और जोमैटो से जुड़े हैं। इन्हें वेतन नहीं मिलता जिससे ये सामाजिक सुरक्षा लाभ जैसे प्रोविडेंट फंड, समूह बीमा और पेंशन से वंचित रहते हैं।

डिजिटल जनगणना होगी : ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब देश में डिजिटल जनगणना होगी। डिजिटल जनगणना के लिए सरकार ने बजट में 3,760 करोड़ रुपये देने का ऐलान किया है। संभव है कि जनगणना की प्रक्रिया ऑनलाइन की जाए या फिर जनगणना करने वाले अधिकारियों को फॉर्म की जगह टैब दिया जाएगा।

शेयर बाजार में 24 सालों की सबसे बड़ी उछाल : बजट के दिन बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 2314.84 अंकों यानी 5% की बढ़त के साथ 48,600.61 पर बंद हुआ है। बजट के दिन इतनी बड़ी तेजी आखिरी बार 1997 में देखने को मिली थी, जब इंडेक्स 6% ऊपर बंद हुआ था।

Related Posts

Leave a Comment