Home छत्तीसगढ़ 7 स्टार की रेस में शामिल, भिलाई शहर तीसरी बार हुआ ओडीएफ प्लस प्लस घोषित

भिलाईनगर/ केंद्रीय सर्वेक्षण टीम की रिपोर्ट पर भिलाई को ओडीएफ प्लस प्लस होने की घोषणा की पुष्टि की गई है। निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के कुशल नेतृत्व में भिलाई ने एक पड़ाव पार कर 500 अंक अर्जित कर लिए हैं! निगम भिलाई अपने दस्तावेजों के आधार पर 7 स्टार के रेस में शामिल होने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहा है, जिसकी पुष्टि टीम के आने के बाद की जाने की प्रबल संभावना है! अक्टुबर 2014 से भारत सरकार द्वारा प्रारम्भ किए गए स्वच्छ भारत मिशन के तहत् निगम भिलाई, भारत सरकार द्वारा आयोजित स्वच्छता प्रतियोगिता में प्रतिभागी रहकर पुरे देश में अपना अहम स्थान बनाता रहा है।
तीसरी बार भिलाई निगम हुआ ओडीएफ प्लस प्लस घोषित नगर निगम भिलाई तीसरी बार ओडीएफ प्लस प्लस घोषित हुआ है! खुले में शौच मुक्त के लिए भिलाई निगम ने वर्ष 2014-15 से निजी शौचालय निर्माण का कार्य प्रारंभ किया था उस दौरान तकरीबन 17929 निजी शौचालय तैयार किए गए! वर्ष 2017 में पहली बार भिलाई निगम ओडीएफ घोषित हुआ, जुलाई 2018 में पुन: ओडीएफ का दर्जा प्राप्त हुआ, 26 दिसंबर 2018 में पहली बार ओडीएफ प्लस प्लस हासिल हुआ, दूसरी बार 25 नवंबर 2019 को ओडीएफ प्लस प्लस मिला और अब तीसरी बार भिलाई निगम ओडीएफ प्लस प्लस घोषित हुआ है!
6000 अंको की प्रतिस्पर्धा में 500 अंक हासिल स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के लिए भारत सरकार ने देश के विभिन्न शहरों के निकायों में स्वच्छता प्रतियोगिता आयोजित की है। स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए 6 हजार अंक का लक्ष्य दिया गया है जिसमें से ओडीएफ प्लस प्लस होने के बाद निगम भिलाई ने 500 अंक अभी से अर्जित कर लिए हैं। 6000 अंक में 1100 अंक स्टार रेटिंग के लिए है जिसमें नाली में जाली, सफाई कार्य, सिटीजन फीडबैक, बल्क वेज जनरेटर, पार्क कंपोस्टिंग, वॉल पेंटिंग, जीवीपी पॉइंट एवं शहर सौंदर्यीकरण सम्मिलित है! वाटर प्लस एवं ओडीएफ मिलाकर 700 अंक निर्धारित है! डोर टू डोर कचरा कलेक्शन, एसएलआरएम सेंटर, कचरा सेग्रीगेशन, सैनिटेशन, एमआईएस इंट्री, डॉक्यूमेंट तैयार करना, डंपसाइट का निष्पादन एवं कम्युनिटी टॉयलेट, पब्लिक टॉयलेट से संबंधित कार्य पर 2400 अंक निर्धारित है! 1800 अंक लोगों के फीडबैक पर निर्धारित किया गया है!
निगम प्रशासन ने ओडीएफ प्लस प्लस हासिल करने व्यापक रूप से की थी तैयारी उपायुक्त अशोक द्विवेदी एवं तरुण पाल लहरें, स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेंद्र मिश्रा एवं सहायक स्वास्थ्य अधिकारी जावेद अली सहित निगम के समस्त जोन आयुक्त एवं अधिकारी/कर्मचारियों ने ओडीएफ प्लस प्लस हासिल करने के लिए लगातार फील्ड में रहकर प्रयास किया था! इसके साथ ही पीएमयू हरीश ठाकुर, पीआईयू अभिनव ठोकने एवं शुभम पाटनी का विशेष योगदान रहा! दिनांक 26 से 28 दिसंबर 2020 को भारत सरकार की सर्वेक्षण दल, निगम भिलाई क्षेत्र में ओडीएफ प्लस प्लस का परीक्षण करने पहुंचे थे उन्होने निगम क्षेत्र के 111 शौचालयों में 13 सामुदायिक एवं सार्वजनिक शौचालयों के अलावा खुले में शौच वाले स्थानों, तालाब किनारे, रेलवे पटरी के किनारे, गली आदि का निरीक्षण किया था। टीम ने स्मृति नगर, कोसा नगर, प्रियदर्शनी परिसर, लक्ष्मी नगर, अकाश गंगा, लिंक रोड, एप्रोच रोड एवं जनता मार्केट, सब्जी मंडी, मटन मार्केट, फल मार्केट, पावर हाउस बस स्टैंड, आकाशगंगा सब्जी मार्केट, भिलाई नगर रेलवे स्टेशन, जुनवानी तालाब, स्मृति नगर तालाब, नेशनल हाईवे सड़क जेपी रोड, वीआईपी रोड, जूनवानी रोड, न्यू क्रिकेट ग्राउंड, पुलिस स्टेशन, शिवाजी नगर एवं सिविक सेंटर सहित अन्य स्थानों पर भी निरीक्षण किया था! निगम ने निरीक्षण के पूर्व शौचालयों को भारत सरकार द्वारा निर्धारित मापदण्ड के आधार पर शौचालयों में महिलाओं की विशेष समस्या को देखते हुए वेंडिंग मशीन, एन्सीनटर, एयर फ्रेशनर, एग्जास्ट फेन, सजावटी फुल पौधे, तौलिया, साबुन, मग्गा, बाल्टी, विकलांगों के लिए रैंप, क्लीनर, दर्पण, आदि सुविधा सहित सम्पूर्ण तैयारी किया था!
11 शौचालय अनुकरणीय की श्रेणी में जांच दल ने मौका मुआयना कर 11 शौचालय को अनुकरणीय एवं 02 को उत्कृष्ट श्रेणी में रखकर ओडीएफ प्लस प्लस घोषित किया है। भिलाई शहर को ओडीएफ प्लस प्लस घोषित होने में शहर की जागरूक जनता, नगर निगम भिलाई एवं बीएसपी प्रबंधन के टीम का संयुक्त रूप से कार्य करने का नतीजा प्राप्त हुआ है! स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में पुरे देश में भिलाई को नं. 01 बनाने के लिए भी निगम प्रशासन की शहरवासियों से अपील की है।

Share with your Friends

Related Articles

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More