Home छत्तीसगढ़ शासन 11 राष्ट्रीय पुरस्कार मिलना छत्तीसगढ़ वन विभाग की बड़ी उपलब्धि

11 राष्ट्रीय पुरस्कार मिलना छत्तीसगढ़ वन विभाग की बड़ी उपलब्धि

by Surendra Tripathi

वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर आज पुलिस प्रशिक्षण अकादमी परिसर चंदखुरी में वन महोत्सव 2021 के अंतर्गत छत्तीसगढ़ सिक्ख समाज द्वारा आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर मंत्री श्री अकबर ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य ने देशभर में अकेले 74 प्रतिशत लघु वनोपज की खरीदी की है। जिसके लिए भारत सरकार से 11 राष्ट्रीय पुरस्कार मिलना वन विभाग की सबसे बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि वनों के मामलों में छत्तीसगढ़ एक संपन्न राज्य है। एक लाख 35 हजार वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में 44.2 प्रतिशत वन है। बहुत बड़ा वन क्षेत्र होने के कारण पर्यावरण का संतुलन यहां बना रहता है। मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने इस अवसर पर पीपल के पौधे का रोपण भी किया।

मंत्री श्री अकबर ने कहा कि आज गुरु तेग बहादुर जी को नमन करते हुए उनकी याद में वृक्षारोपण कार्यक्रम रखा है। इसके लिए सिक्ख समुदाय के सभी लोगों को बधाई देता हूं। जिस प्रकार से आज यहां छोटे-छोटे बच्चों ने 400 पौधों का रोपण किया है, उसी प्रकार इन बच्चों के माता-पिता का भी दायित्व है कि पौधों को भी सुरक्षित और संरक्षित रख पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने के लिए वन विभाग का सहयोग करें। मंत्री श्री अकबर ने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन की ओर से वृक्षारोपण का कार्यक्रम बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। इस वर्ष 99 लाख पौधों का रोपण वन विभाग द्वारा किया जा रहा है। वन विभाग द्वारा पौधारोपण के लिए इच्छुक व्यक्ति द्वारा मोबाइल या दूरभाष से संपर्क करने पर उन्हें घर पहुंच पौधा उपलब्ध कराया जा रहा है। इस अवसर पर 48 विभिन्न प्रजातियों केे औषधीय और फलदार पौधों के 4 हजार 796 पौधों का रोपण किया गया।
कार्यक्रम के दौरान मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने अल्प संख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री महेन्द्र छाबड़ा को बधाई देते हुए कहा कि श्री छाबड़ा ने जिम्मेदारी पूर्वक अपने दायित्वों का निर्वहन बड़ी ही ईमानदारी से किया है। अल्पसंख्यक समुदाय के उत्थान के लिए इसी प्रकार आगे उन्हें और भी कार्य करने हैं, जिसके लिए राज्य सरकार हरसंभव मदद करेगी।

Share with your Friends

Related Articles

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More