Home छत्तीसगढ़ कवर्धा- नवरात्रि के पहले दिन सडक़ों पर सन्नाटा, आज भी कफ्र्यू,

कवर्धा- नवरात्रि के पहले दिन सडक़ों पर सन्नाटा, आज भी कफ्र्यू,

by Surendra Tripathi

कवर्धा-  नवरात्रि के पहले दिन  कवर्धा जिले में  धारा 144 के साथ-साथ कफ्र्यू भी लगाया गया है। पुलिस ने 70 लोगों को कल देर रात तक गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य की पहचान के लिए वीडियो फुटेज खंगाले जा रहे हैं, और गिरफ्तारियां बढ़ सकती हैं।

बुधवार को  प्रशासन ने कवर्धा में देर रात करीब 12 बजे इंटरनेट सेवाएं बंद कर दीं थीं। इसके बाद पड़ोसी जिलों बेमेतरा और राजनांदगांव में भी इंटरनेट बंद करा दिया गया है। आज गुरूवार को भी तीनों जिले में इंटरनेट बंद है।

क्षेत्र में तनाव की स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन ने आज कफ्र्यू में ढील देने से साफ मना कर दिया है। आगे का निर्णय स्थिति को देखते हुए लिया जाएगा। दूसरी ओर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता उपद्रव के दौरान हुए लाठीचार्ज का विरोध कर रहे हैं। इसके चलते कार्यकर्ता आज गिरफ्तारियां देने का ऐलान किया है।

पहले की स्थिति को देखते हुए प्रशासन कोई भी कोताही बरतने के मूड में नहीं है। ऐसे में पुलिस की कोशिश होगी कि भीड़ जमा नहीं होने पाए। इसके चलते कार्यकर्ता अलग-अलग थानों में जाकर गिरफ्तारियां देंगे।

आज से शुरू हुए नवरात्रि उत्सव पर भी दंगों का साया पड़ है। जिले के सभी बाजार और दुकानें बंद हैं। हर साल 25 से ज्यादा जगहों पर दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित होती थीं। इस बार सिर्फ 7 स्थानों पर प्रशासन की ओर से अनुमति दी गई है। इनमें गुप्ता मोहल्ला, जनपद ऑफिस के सामने, करपात्रि चौक, यूनियन चौक, ठाकुर पारा, बहादुरगंज वार्ड और कैलाश नगर शामिल हैं। प्रतिमाओं के साथ सिर्फ 3 लोग ही आ सकते हैं। उसके लिए पहले पास बनवाना होगा। गाइड लाईन के अनुसार मंदिरों में ज्योति कलश जलेंगे, लेकिन आमजन को दर्शन की अनुमति नहीं है।

जिला प्रशासन ने नवरात्रि को देखते हुए मंदिर समितियों और दुर्गा पूजा समितियों को सशर्त छूट दी है।

होम डिलीवरी के लिए प्रशासन ने 14 राशन किराना और 6 थोक किराना दुकानदारों पर सहमति दी है। इनकी सूची, नाम-पते और नंबर के साथ जारी की गई है। मंदिर समिति संबंधित दुकानदारों से सीधे संपर्क कर सामान ले सकती हैं। दुकानदारों को प्रशासन की ओर से पास जारी किया गया है।

Share with your Friends

Related Articles

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More