Home छत्तीसगढ़ BSP ने चलाया COVID टीकाकरण के बुस्टर डोज का विशेष अभियान

BSP ने चलाया COVID टीकाकरण के बुस्टर डोज का विशेष अभियान

by Surendra Tripathi

अमृत महोत्सव के तहत (15 जुलाई 2022 से 30 सितंबर 2022 तक) भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सभी पात्र लाभार्थियों को कोविड टीकाकरण के दौरान एहतियाती या बूस्टर खुराक का टीका लगाए जाने हेतु दिशा-निर्देश प्राप्त हुआ। इस संबंध में, इस्पात मंत्रालय और बीएसपी के शीर्ष प्रबंधन के निर्देशों का पालन करते हुए, विशेष टीकाकरण अभियान के तहत विशेष टीकाकरण शिविर आयोजित किए गए।

उल्लेखनीय है कि सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र ने जेएलएन अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र, सेक्टर-9 के माध्यम से भिलाई के नगरवासियों हेतु कोविड से बचाव के लिये निरन्तर प्रयास किया है। बीएसपी अस्पताल और उनके प्रतिबद्ध चिकित्सकों ने कोविड के उत्कृष्ट चिकित्सा के साथ-साथ कोविड टीकाकरण को बड़े बेहतरीन ढंग से अंजाम दिया है।

विदित हो कि भारत ने 18 जनवरी, 2021 से अपना पहला जन-टीकाकरण कार्यक्रम प्रारंभ किया। भारत सरकार के इस अभियान को सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के जवाहर लाल नेहरू अस्पताल एवं अनुसंधान केन्द्र में बीएसपी के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता के कुशल व प्रभावी नेतृत्व में 25 जनवरी 2021 को कोविड-19 के टीकाकरण का शुभारम्भ किया गया था। आज दिनांक 29 सितम्बर, 2022 को जेएलएन अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र, सेक्टर-9 में 1,12,791 खुराक लगाकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। सुरक्षित टीकाकरण को बीएसपी अस्पताल के कुशल चिकित्सकों तथा पैरामेडिकल स्टाफ के निरन्तर योगदान से यह लक्ष्य हासिल करने में सफलता मिली।

सीएमओ इंचार्ज डॉ एम रवींद्रनाथ के कुशल मार्गदर्शन तथा सीएमओ डॉ प्रमोद बिनायके के कुशल नेतृत्व में एवं कोविड टीकाकरण के प्रभावी तथा एचओडी पीडियाट्रिक्स डॉ संबिता पंडा के समन्वय के साथ मुख्य सलाहकार बाल रोग विशेषज्ञ डॉ कौशिक किशोर की देखरेख में नंदिनी माइंस हॉस्पिटल, सीआईएसएफ हेल्थ सेंटर सेक्टर-3 और संयंत्र के भीतर स्थित एमएमपी-1 में विभिन्न स्थानों पर विशेष टीकाकरण अभियान चलाया गया, जहां 348 से अधिक लाभार्थियों को कोविड वैक्सीन की एहतियाती खुराक दी गई। बीएसपी द्वारा अब तक कुल कोविशील्ड-96488, कोवैक्सीन-13369 और कॉर्बेवैक्स-2934 टीके लगाए गए। बीएसपी के अथक प्रयासों से कोविड टीकाकरण के इस राष्ट्रीय अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम दिया गया।

गौरतलब है कि जेएलएन अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र के एम एंड एचएस विभाग के सत्यापनकर्ताओं, डेटा ऑपरेटरों, सपोर्ट स्टाफ के निरन्तर सहयोग के साथ-साथ वैक्सीनेटर रीना जंघेल, लवली सिब्बू, चिंतामणि साहू और क्रिस्टीना दास सहित कोविड टीकाकरण टीम के प्रत्येक सदस्य के अथक प्रयास ने इस अभियान सफल बनाया जा सका। कोविड टीकाकरण कार्यक्रम ने लोगों के जीवन की रक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है।

Related Posts