Home छत्तीसगढ़ बीएसपी में सुरक्षा संस्कृति को सुदृढ़ करने हेतु सेफ्टी सर्कल पर प्रशिक्षण प्रारंभ

बीएसपी में सुरक्षा संस्कृति को सुदृढ़ करने हेतु सेफ्टी सर्कल पर प्रशिक्षण प्रारंभ

by Surendra Tripathi

ईडी एफ एंड ए डाॅ ए के पंडा ने किया उद्घाटन

सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के सुरक्षा अभियांत्रिकी विभाग द्वारा आज दिनांक 29 नवम्बर 2022  को मानव संसाधन विकास विभाग में पहली बार सुरक्षा संस्कृति को सुदृढ़ करने हेतु सेफ्टी सर्कल पर सघन प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। इस अभिनव प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन कार्यपालक निदेशक (वित्त एवं लेखा) डाॅ ए के पंडा के मुख्य आतिथ्य में किया गया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्य महाप्रबंधक (बीई एवं एचआरडी) श्री संजय धर तथा कार्यकारी मुख्य महाप्रबंधक (सुरक्षा एवं अग्निशमन सेवाएं) श्री जी पी सिंह विशेष रूप से उपस्थित थे।

कार्यक्रम के प्रारंभ में सुरक्षा अभियांत्रिकी विभाग के विभाग प्रमुख कार्यकारी मुख्य महाप्रबंधक (सुरक्षा एवं अग्निशमन सेवाएं) श्री जी पी सिंह ने बीएसपी में सुरक्षा संस्कृति को सुदृढ़ करने हेतु सेफ्टी सर्कल की आवश्यकता तथा इसके उद्देश्य पर प्रकाश डाला। श्री सिंह ने सुरक्षा संबंधी अपने अनुभवों को उदाहरण के माध्यम से साझा करते हुए वर्ष 2023 को जीरो फैटल एक्सीडेंट का लक्ष्य रखा। साथ ही उन्होंने उपस्थित अतिथियों का भी स्वागत किया।

मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित कार्यपालक निदेशक (वित्त एवं लेखा) डाॅ ए के पंडा ने सेफ्टी सर्कल के पहले प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए कहा कि सुरक्षा संयंत्र की पहली प्राथमिकता है। हमें दुर्घटनाओं की प्रत्येक संभावनाओं को समाप्त करते हुए जीरो फैटिलिटी को प्राप्त करना है। हमारे लिए प्रत्येक जीवन की कीमत है हम अपने किसी भी व्यक्ति को नहीं खोना चाहते हैं इसलिए हम सेफ्टी सर्कल जैसे अभिनव प्रयास को प्रारंभ किया है। जिससे सुरक्षा संस्कृति में एक सकारात्मक परिवर्तन आए। आप सभी सेफ्टी वाॅरियर्स ने जिस तरह से सुरक्षा के प्रति समर्पित होकर स्वैच्छिक रूप से कार्य किया है वह अनुकरणीय है। हम इस्पात उद्योग में सुरक्षा के क्षेत्र में एक आदर्श स्थापित करें। भिलाई बिरादरी हमेशा अव्वल रहा है मुझे विश्वास है कि टीम भिलाई सुरक्षा के क्षेत्र में भी अव्वल आयेगा।

मुख्य महाप्रबंधक (बीई एवं एचआरडी) श्री संजय धर ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में कहा कि आज हम सेफ्टी सर्कल के इस प्रशिक्षण के माध्यम से सुरक्षा क्रांति का बीज बो रहे है जो भविष्य में सुरक्षा संस्कृति का एक विशाल वृक्ष साबित होगा। जिसके साये में हम सुरक्षित उत्पादन को अंजाम दे पायेंगे। हमारे आज का यह प्रयास हमारे कल के भविष्य को सुरक्षित करेगा।

कार्यक्रम का समन्वय एवं संचालन तथा आभार प्रदर्शन महाप्रबंधक (सुरक्षा) डाॅ ए आर सोनटके ने किया। इस एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में सेफ्टी सर्कल के विभिन्न पहलुओं तथा उनके व्यवहारिक पक्ष के बारे में विस्तृत चर्चा करते हुए व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया गया। सेफ्टी सर्कल के विभिन्न टूल्स व टेक्नीक्स से अवगत कराया गया।

Related Posts