Home छत्तीसगढ़ बीएसपी ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में की महत्वपूर्ण पहल

बीएसपी ने पर्यावरण संरक्षण की दिशा में की महत्वपूर्ण पहल

by Surendra Tripathi

कोक ओवन बैटरी में अपशिष्ट प्लास्टिक कणिकाओं का पुनः उपयोग करने हेतु प्लास्टिक बीड चार्जिंग सुविधा” का संयंत्र के निदेशक प्रभारी ने किया उद्घाटन

भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी श्री अनिर्बान दासगुप्ता ने 23 दिसम्बर 2022 को कोक ओवन के कोल हैंडलिंग प्लांट-2 में “प्लास्टिक बीड चार्जिंग सुविधा” का उद्घाटन किया। इस अवसर पर कार्यपालक निदेशक (आरडीसीआईएस) श्री निर्विक बनर्जी, बीएसपी के कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) श्री अंजनी कुमार, कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) श्री ए के चक्रवर्ती, कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएं), श्री एस मुखोपाध्याय सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण विशेष रूप से उपस्थित थे। इस प्रकार छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण बोर्ड के अनुमोदन से कोक ओवेन बैटरी क्रमांक 5,6,9,10 में कोयले के साथ-साथ प्लास्टिक ग्रेन्यूल्स का प्रायोगिक उपयोग प्रारंभ किया गया है।

यह सुविधा आरडीसीआईएस, सेल के परामर्श से कोक ओवन एवं कोल केमिकल विभाग द्वारा इन-हाउस संसाधनों के साथ स्थापित की गई है और इसका उद्देश्य कोक बनाने की प्रक्रिया में कोयले के साथ-साथ कचरे के रूप में प्लास्टिक के दानों को मिलाना है। बीएसपी निदेशक प्रभारी श्री अनिर्बान दासगुप्ता, द्वारा उद्घाटन के पश्चात बीएसपी के कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) श्री अंजनी कुमार द्वारा बटन दबाकर प्लास्टिक ग्रैन्यूल्स की चार्जिंग शुरू की। आरडीसीआईएस और कोक ओवन की टीम ने इस प्रक्रिया को विस्तार से समझाया।

इस प्रक्रिया में, उच्च तापमान पर हवा की अनुपस्थिति में, प्लास्टिक के दाने जलते नहीं हैं बल्कि कोयले के कार्बनीकरण के साथ कोकिंग कक्ष में विघटित हो जाते हैं। यह मौजूदा कोक ओवन बैटरी में बड़ी मात्रा में अपशिष्ट प्लास्टिक के पुनर्चक्रण में मदद करता है, जिससे पर्यावरण पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ता है, और बेहतर कोक गुणों का अतिरिक्त लाभ प्राप्त होता है।

यह सुविधा प्रायोगिक तौर पर छोटे स्तर पर शुरू की गई है। प्रयोग के दौरान, बड़े पैमाने पर प्रक्रिया की व्यवहार्यता के लिए पर्यावरणीय मापदंडों और कोक गुणों की निगरानी की जाएगी।

उपयोग की गई प्लास्टिक की वस्तुओं से उत्पन्न कचरे का प्रबंधन, विशेष रूप से जिनका पुनर्चक्रण नहीं किया जा सकता है, एक चुनौतीपूर्ण कार्य बन चुका है। प्लास्टिक प्रदूषण की गंभीरता और पर्यावरण पर प्रतिकूल प्रभाव को ध्यान में रखते हुए, बीएसपी ने आरडीसीआईएस, कोक ओवन एवं कोल केमिकल विभाग, पर्यावरण प्रबंधन विभाग, आरसीएल, टीएसडी, वित्त एवं एमएम की टीम के संयुक्त प्रयासों से कोक ओवन बैटरियों में कोयले के साथ अपशिष्ट प्लास्टिक के दानों के उपयोग का चुनौतीपूर्ण कार्य पूर्ण किया है।

इस अवसर पर सीजीएम इंचार्ज (आयरन) श्री तापस दासगुप्ता, सीजीएम इंचार्ज (एम एंड यू) श्री असित साहा, सीजीएम इंचार्ज (सर्विसेज) श्री पी के सरकार, सीजीएम (सीओ एंड सीसीडी और आरईडी) श्री तरुण कनरार, सीजीएम (एसएमएस-3 और आरसीएल) श्री एस के कर, सीजीएम (सामग्री प्रबंधन) श्री तपन कुमार, सीजीएम (इनवायरमेंट मैनेजमेंट), श्री डी एल मोइत्रा, सीजीएम (ब्लास्ट फर्नेस) श्री सौम्य टोकदार और बीएसपी के अन्य वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारीगण उपस्थित थे।

Related Posts