Home छत्तीसगढ़ गोबर बेचकर लोग अपनी जरूरतें पूरी कर रहे हैं, गोबर सोना हो गया है: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल*

गोबर बेचकर लोग अपनी जरूरतें पूरी कर रहे हैं, गोबर सोना हो गया है: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल*

by admin

रायपुर _श्री भूपेश बघेल आज अपने भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के लिए दुर्ग जिले के अंतर्गत साजा विधानसभा के ग्राम बोरी पहुंचे। जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने बड़ी संख्या में पहुंचकर मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया। इसके साथ ही उन्होंने ग्राम बोरी में क्षेत्रवासियों को 44 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने ग्राम बोरी में क्षेत्र के विकास के लिए कई बड़ी घोषणाएं भी की। उन्होंने कहा कि लिटिया (सेमरिया) में नवीन आई.टी.आई की स्थापना की जायेगी। उन्होंने ग्राम बोरी में अतिरिक्त 20 बेड (बिस्तर) सुविधा के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का उन्नयन करने, उप पंजीयक कार्यालय प्रारंभ करने और प्री-मेट्रिक एवं पोस्ट मेट्रिक अनुसूचित जाति-जनजाति छात्रावास खोलने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि घोटवानी, खिलोराकला और देवरी में हायर सेकण्डरी स्कूलों का भवन निर्माण करवाया जायेगा। शासकीय महाविद्यालय बोरी में एम.ए. राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र की कक्षाएं प्रारंभ की जायेंगी। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र धमधा में पोषण पुनर्वास केन्द्र की स्थापना की जायेगी। उन्होंने शिवकोकड़ी, घोटवानी से मुड़पार मार्ग, नवागांव-परसदापार मार्ग, डोमा-पथरिया मार्ग और पोटिया-टेमरी मार्ग में पुल निर्माण की घोषणा की। इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री रविंद्र चौबे भी उपस्थित थे।

*ग्राम बोरी में नवीन तहसील कार्यालय का लोकार्पण*

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने ग्राम बोरी में नवीन तहसील कार्यालय का विधि विधान के साथ पूजा कर लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने 12 विद्यार्थियों को जाति प्रमाण पत्र का वितरण भी किया। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल भी पहुंचे और विद्यार्थियों से मुलाकात की। वहां छात्र-छात्राओं ने मुख्यमंत्री को उनका स्केच भेंट किया। इस पर मुख्यमंत्री ने बच्चों का उत्साहवर्धन किया और उनके साथ सेल्फी भी ली।

*मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आम जनता से की भेंट-मुलाकात*

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने ग्राम बोरी में भेंट-मुलाकात स्थल पहुंचकर कार्यक्रम की शुरूआत छत्तीसगढ़ महतारी के छायाचित्र पर माल्यार्पण और राज्यगीत के साथ की। उन्होंने लोगों से धान खरीदी और कर्ज माफी के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि विपरीत परिस्थितियों में भी कृषि हित की योजनाओं को हमारी सरकार ने जारी रखा। हमने किसानों को नुकसान नहीं होने दिया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बताया कि इस साल एक करोड़ 10 लाख टन धान खरीदी का लक्ष्य है। 4 साल में धान खरीदी बहुत ज्यादा बढ़ गई। धान का रकबा 7 लाख बढ़ गया। लोग खेती में वापस आ गए। इस दौरान नवागांव में अतिक्रमण की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने जांच कर कार्रवाई करने की बात कही।

*महिलाओं ने मुख्यमंत्री को दिखाया गोबर पेंट*

भेंट-मुलाकात के दौरान लिटिया गांव की देवकी वर्मा ने मुख्यमंत्री को अपने गांव में बने गोबर पेंट यूनिट और उसकी विशेषताओं के बारे में बताया। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि सबसे पहली खेप में बारह सौ लीटर गोबर पेंट का उत्पादन हुआ। गांव में डिस्टेंपर, इमल्शन आदि का उत्पादन भी हो रहा है। गांव वाले काफी खुश हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री बघेल ने गांव में उत्पादित गोबर पेंट भी देखा और ग्रामीणों से कहा कि हम गोबर पेंट से सरकारी बिल्डिंग में पोताई कराएंगे। सीमार्ट में इसका विक्रय करेंगे। अपनी जमीन से उत्पादित वस्तुओं से हम इतना कुछ कर सकते हैं। ग्रामीण हुनर की पूरी संभावनाओं को हम निखार रहे हैं।

*टोकन सुविधा होने से धान बेचने की अब टेंशन नहीं*

मुख्यमंत्री से मिलने आए किसान श्री देवदत्त पटेल ने बताया कि उनका 60 हजार का कर्ज माफ हो गया है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना की तीन किश्त भी मिल गई है। इन पैसे से उन्होंने पिकअप लिया है। डाउन पेमेंट के समय किश्त आ जाती है। श्री पटेल ने मुख्यमंत्री को बताया कि अब कर्ज देने में बैंक आनाकानी नहीं करते। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बैंक वालों को पता है कि किसान के पास पैसा है। श्री देवदत्त ने बताया कि पहले धान बेचने के लिए 2 बजे रात को लाइन लगते थे, अब ऑनलाइन टोकन की सुविधा उपलब्ध हो गई है, इससे कोई टेंशन नही है।

*मुख्यमंत्री ने कहा कि गोबर सोना हो गया है*

गोधन न्याय योजना के बारे में मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा पूछे जाने पर ग्राम रानीकोकड़ी की श्रीमती गायत्री यादव ने बताया कि उन्हांेने 30 हजार का गोबर बेचा है। इन पैसों से अपने बेटे को पढ़ा रही हैं। इसी तरह पहटिया विष्णु यादव ने बताया कि उन्होंने अब तक लगभग 2 लाख 70 हजार का गोबर बेचा है। इन पैसों से भाई की शादी भी करायी और अपने लिए सुपर स्प्लेंडर बाइक भी खरीदी। श्रीमती मानकुंवर ने मुख्यमंत्री को बताया कि गोबर बेचकर मैंने गाय और भैंस लिया है। उर्वशी निषाद ने बताया कि उन्होंने गोबर बेचकर अपने लिए गहना लिया है। उनकी बात सुनकर मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुत बढ़िया, गोबर सोना हो गया है।

*मुख्यमंत्री से छात्रा ने कहा फीस की अब कोई दिक्कत नहीं*

भेंट-मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल के विद्यार्थियों से बात की। इसी बीच गीतांजली साहू ने उन्हें मोर छत्तीसगढ़ के माटी…गीत गाकर सुनाया और स्वामी आत्मानंद स्कूल शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री से छात्रा दुर्गा साहू ने बताया कि पहले प्राइवेट स्कूल में उसकी फीस 20 हजार रूपए लगती थी, लेकिन अब फीस की कोई दिक्कत नहीं है।

Related Posts