Home छत्तीसगढ़ शीतलहर से बचने ‘‘क्या करे या क्या ना करे’’ के संबंध में दिशा निर्देश जारी

शीतलहर से बचने ‘‘क्या करे या क्या ना करे’’ के संबंध में दिशा निर्देश जारी

by Surendra Tripathi

बेमेतरा .

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला बेमेतरा द्वारा आम जनता से अपील की जाती है कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं भारत मौसम विज्ञान केंद्र द्वारा अलर्ट जारी किया गया है कि, माह दिसंबर से जनवरी के बीच ठंड की व्यापकता और तीक्ष्णता शीतलहर का रूप ले लेती है। इस वर्ष भी दिसम्बर माह से ठंड प्रारंभ हो गई है। नगरीय व ग्रामीण  क्षेत्रो में निःसहाय, आवासहीन, गरीब, बृद्ध एवं स्कूल जाने वाले विद्यार्थी आदि इन सभी को ठंड से प्रभावित होने की संभावाना है जिस संबंध मे बचाव हेतु ‘‘क्या करे या क्या ना करे’’ का दिशा-निर्देश जारी किया गया है। जारी दिशा निर्देश में कहा गया है कि आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर जावे, मौसम संबंधित समाचार व आपातकाल के संबंध में जारी समाचारो को ध्यान से सुने, वृद्ध एवं बच्चो का ध्यान रखे तथा उन्हे अकेला ना छोड़ें, आवश्यकतानुसार गर्म पानी पीते रहे, बिजली का प्रवाह अवरूद्ध होने की स्थिति में फ्रीज में खाने के सामान को 48 घंटे से ज्यादा न रखे, शीतलहर से बचाव के लिए सिर व कान को टोपी या मफलर से ढक कर रखें, यदि कैरोसिन या कोल के हिटर का उपयोग करते हो तो गैस व धुंआ निकलने के लिए रोशनदान की व्यवस्था रखे, यदि सर्दी से संबंधित कोई प्रभाव शरीर पर दिखाई दे-जैसे नाक, कान, पैर-हाथ की उंगलियां आदि लाल हो, असामान्य तापमान की स्थिति, अत्यधिक कांपना, सुस्ती, कमजोरी, सांस लेने में आदि में परेशानी तो तत्काल अपने नजदीकी शासकीय स्वास्थ्य संस्थान में संपर्क करे।

Related Posts